Ayodhya Ram Mandir; Narendra Modi Ayodhya Ram Mandir Trust Board Members Meeting Latest News and Updates On Shri Ram Janmabhoomi Teerth Kshetra Trust Members | श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट के सदस्य प्रधानमंत्री मोदी से मिले, मंदिर निर्माण के भूमि पूजन का न्योता दिया

  • ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास की अगुवाई में सभी सदस्य प्रधानमंत्री से मिलने पहुंचे
  • महामंत्री चंपत राय ने कहा- ट्रस्ट की अगली बैठक 3 और 4 मार्च को अयोध्या में होगी

Dainik Bhaskar

Feb 20, 2020, 10:08 PM IST

नई दिल्ली. अयोध्या के राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट के सदस्यों ने पहली बैठक के एक दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास की अगुवाई में सभी सदस्य प्रधानमंत्री से मिलने उनके आवास 7 लोक कल्याण मार्ग पहुंचे। मुलाकात के बाद ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय ने कहा- ट्रस्ट के सदस्यों की प्रधानमंत्री से शिष्टाचार भेंट हुई। हमने उन्हें श्रीराम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया। हालांकि, अभी भूमि पूजन की डेट तय नहीं हुई है। 

राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र निर्माण ट्रस्ट की पहली बैठक बुधवार को हुई थी। चंपत राय ने कहा- ट्रस्ट की दूसरी बैठक अयोध्या में 3 और 4 मार्च को होगी। ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने हस्ताक्षर के अधिकार ट्रस्टी अनिल मिश्रा को दिए हैं। मिश्रा ही इस बैठक के बारे में अंतिम फैसला लेंगे।

बुधवार को राम जन्मभूमि ट्रस्ट की पहली बैठक हुई

बुधवार को राम जन्मभूमि ट्रस्ट के प्रमुख के पाराशरण के घर पर हुई बैठक में राम जन्मभूमि न्यास के महंत नृत्य गोपाल दास को अध्यक्ष और विश्व हिंदू परिषद के चंपत राय को महासचिव चुना गया। गुरू पांडुरंग अठावले के शिष्य स्वामी गोविंद देव गिरि कोषाध्यक्ष बनाए गए। मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन पूर्व कैबिनेट सचिव नृपेंद्र मिश्र होंगे। बैठक में कुल 9 प्रस्ताव पारित किए गए। इस बैठक में लिए जाने वाले फैसलों के बारे भास्कर ने सबसे पहले जानकारी दी थी।

पीएम मोदी ने ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ के गठन का ऐलान किया था

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पांच फरवरी को लोकसभा में ट्रस्ट के गठन का ऐलान किया था। उन्होंने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए एक स्वायत्त ट्रस्ट का गठन कर दिया गया है। उन्होंने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के अनुसार एक स्वायत्त ट्रस्ट ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ के गठन का प्रस्ताव पारित किया गया है। ये ट्रस्ट अयोध्या में भगवान श्रीराम की जन्मस्थली पर भव्य और दिव्य श्रीराम मंदिर के निर्माण और उससे संबंधित विषयों पर निर्णय लेने के लिए पूर्ण रूप से स्वतंत्र होगा।


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *