Chand Bagh Bridge Became Border People Are Afraid To Visit Each Other Area – चांद बाग की पुलिया बनी बॉर्डर, दहशत के कारण एक-दूसरे के इलाके में जाने से डरते हैं लोग

कमल कश्यप, अमर उजाला, नई दिल्ली, Updated Sat, 29 Feb 2020 09:39 PM IST

चांद बाग की पुलिया। पुलिया के एक और मुस्लिम और दूसरी हिंदू आबादी रहती है। अब यह पुलिया अब एक ऐसा अदृश्य बॉर्डर बन चुकी है, जिसे पार करने की हिम्मत लोग नहीं जुटा पा रहे हैं। आलम यह है कि अगर हिंदू पक्ष को दयालपुर, शेरपुर, मूंगानगर की ओर जाना है, तो लोग खजूरी चौक से ज्ञानी मार्केट होते हुए अपने घरों तक पहुंच रहे हैं। 

उधर चांदबाग की ओर से मुस्लिम पक्ष को अगर दूसरी ओर जाना है, तो वे लोग भी दूसरे रास्तों को चुन रहे हैं। पुलिया पार अगर चार लोग इकट्ठे हैं, तो दूसरी ओर सुगबुगाहट शुरू हो जाती है। दिन में तो फिर भी लोग नजर आते हैं, लेकिन शाम ढलते ही एकदम सन्नाटा पसर जाता है। सुरक्षा बलों की मौजूदगी में लोग सुरक्षित तो महसूस करते हैं, लेकिन दोनों ही ओर के लोग गलियों में पहरा देने बैठ जाते हैं। यहां रहने वाले बड़े बुजुर्गों का कहना है कि युवाओं में गुस्सा है, लेकिन इससे काम नहीं चलेगा। अमन के लिए दोनों समुदाय को पहल करनी होगी।
 




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *