Coronavirus impact on swimming: Swimming federation of India seeks permission from government to stage training camp in america for tokyo olympics | भारत में 2-3 महीने तक स्वीमिंग पूल खुलने के आसार नहीं; फेडरेशन ने विदेश में ट्रेनिंग की मंजूरी मांगी, 2 तैराक ट्रेनिंग के लिए अमेरिका गए

  • Hindi News
  • Sports
  • Coronavirus Impact On Swimming: Swimming Federation Of India Seeks Permission From Government To Stage Training Camp In America For Tokyo Olympics

एक घंटा पहलेलेखक: राजकिशोर

  • कॉपी लिंक

वीरधवल खाड़े (सबसे बाएं), सजन प्रकाश, श्रीहरि नटराज और लिखिथ एसपी (दाएं) टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालिफिकेशन कोटा हासिल कर चुके हैं। -फाइल

  • एसएफआई के सचिव मोनल चौकसी ने बताया कि विदेश यात्रा की मंजूरी मिलने के बाद हम अमेरिका में ट्रेनिंग की योजना बना रहे
  • 6 भारतीय तैराक ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके, इनमें वीरधवल खाड़े, साजन प्रकाश, श्रीहरि नटराज, कुशाग्र रावत, एसपी लिखिथ और अद्वैत पागे शामिल
  • अद्वैत पागे ट्रेनिंग के लिए अगस्त के पहले हफ्ते में अमेरिका जाएंगे, आर्यन मखीजा और नील रॉय वहां प्रैक्टिस कर रहे हैं

भारत में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के कारण अगले 2-3 महीने तक स्विमिंग पूल खुलने के आसार नहीं हैं। ऐसे में ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके तैराक ट्रेनिंग के लिए विदेश जा रहे हैं। वहीं, स्वीमिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) ने भी विदेश में ट्रेनिंग कैंप लगाने के लिए खेल मंत्रालय से इजाजत मांगी है। 

एसएफआई के सचिव मोनल चौकसी ने भास्कर से कहा कि इंटरनेशनल फ्लाइट शुरू होने के बाद फेडरेशन अमेरिका या अन्य देशों में ट्रेनिंग की योजना बना रहा है। इसके लिए एक प्रपोजल तैयार करके उसे खेल मंत्रालय और स्पोर्ट्स अथॉरिटी की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। 

कोरोना के कारण मार्च में स्वीमिंग टीम की ट्रेनिंग टली

उन्होंने बताया कि लॉकडाउन से पहले अमेरिका में 2 महीने के लिए ट्रेनिंग की मंजूरी मिली थी, लेकिन लॉकडाउन के कारण ट्रेनिंग टल गई और फेडरेशन ने खेल मंत्रालय को फंड लौटा दिया। अब फेडरेशन दोबारा खेल मंत्रालय से फंड मांगेगा, ताकि विदेश में तैराकों की ट्रेनिंग कराई जा सके।   

ओलिंपिक के क्वालिफाई करने वाले अद्वैत अगस्त में अमेरिका जाएंगे
टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके स्विमर अद्वैत पागे अगस्त के पहले हफ्ते में अमेरिका जाएंगे। पागे अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ सेंट्रल फ्लोरिडा में पढ़ते हैं और कॉलेज टीम के साथ स्विमिंग की प्रैक्टिस करते हैं। वहां कॉलेज का स्वीमिंग सीजन सितंबर में शुरू होता है। ऐसे में वे सीजन शुरू होने से पहले वहां पहुंचने की तैयारी कर रहे हैं, ताकि टोक्यो गेम्स के लिए खुद को तैयार कर सकें। 

दो भारतीय स्विमर ट्रेनिंग के लिए अमेरिका पहुंचे

अद्वेत पागे ने बताया कि ओलिंपिक क्वालिफाइंग की तैयारी कर रहे आर्यन मखीजा वंदे भारत मिशन के तहत शुरू हुई हवाई सेवा के जरिए पहले ही अमेरिका जा चुके हैं। वहीं, स्विमर नील रॉय भी अमेरिका में ही हैं। नील और आर्यन भी अमेरिका की यूनिवर्सिटी में पढ़ते हैं और वहां कॉलेज टीम में शामिल हैं।

वीरधवल खाड़े भी दुबई या थाईलैंड जाएंगे
टोक्यो गेम्स के लिए क्वालिफाई करने वाले वीरधवल खाड़े ने भी कहा कि अमेरिका और फ्रांस के लिए हवाई सेवा शुक्रवार से शुरू हो गई है। उन्होंने उम्मीद जताई कि धीरे-धीरे दूसरे देशों के लिए भी हवाई सेवा शुरू हो जाएगी। वह दुबई या थाईलैंड में ट्रेनिंग करने की प्लानिंग कर रहे हैं। 

6 भारतीय तैराक टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके
चौकसी ने बताया कि भारत के 6 स्विमर टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके हैं। इनमें वीरधवल खाड़े, साजन प्रकाश, श्रीहरि नटराज, कुशाग्र रावत, एसपी लिखिथ और अद्वैत पागे शामिल हैं। वहीं, आर्यन मखीजा और नील रॉय से भी ओलिंपिक क्वालिफाई करने की उम्मीद है।

गृह मंत्रालय ने स्वीमिंग पूल खोलने की मंजूरी नहीं दी
गृह मंत्रालय ने पिछले महीने हॉकी, कुश्ती, शूटिंग, बॉक्सिंग समेत 11 खेलों की ट्रेनिंग शुरू करने के लिए स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर यानी एसओपी को मंजूरी दी थी, लेकिन कोरोना संक्रमण की आशंका के चलते स्वीमिंग पूल और जिम खोलने की मंजूरी अभी तक नहीं दी है। 

देश में कोरोना के मामले 10 लाख के पार

देश में बीते कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं। संक्रमितों की संख्या 10 लाख के पार हो गई है। कई हेल्थ एक्सपर्ट्स ने भी दावा किया है कि सितंबर में कोरोना संक्रमण का पीक आ सकता है। इधर, बिहार, यूपी के अलावा कई और राज्यों ने अपने यहां दोबारा लॉकडाउन किया है। ऐसे में देश में स्वीमिंग का ट्रेनिंग कैम्प लगने के आसार बहुत कम हैं।

टोक्यो ओलिंपिक अगले साल होगा 
पहले टोक्यो ओलिंपिक इसी महीने शुरू होना था, लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी और जापान सरकार ने खेलों को अगले साल के लिए टाल दिया। अब यह गेम्स 2021 में 23 जुलाई से 8 अगस्त तक होंगे। ऐसे में अब इसकी तैयारी के लिए खिलाड़ियों के पास एक साल का ही वक्त बचा है। 

अगर भारतीय तैराकों ने अभी प्रैक्टिस शुरू नहीं की, तो ओलिंपिक तक अपने खेल के टॉप तक नहीं पहुंच पाएंगे, क्योंकि मार्च से ही उनकी प्रैक्टिस बंद है। 

0


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *