Drs To Be Used In Ranji Trophy Semifinal Saurashtra And Gujarat At First Time – रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल में पहली बार होगा डीआरएस का प्रयोग

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला
Updated Tue, 25 Feb 2020 10:41 PM IST

गुजरात रणजी टीम
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

सौराष्ट्र और गुजरात के बीच 29 फरवरी से शुरू होने वाले रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल मैच के दौरान पहली बार देश की शीर्ष घरेलू प्रतियोगिता में निर्णय समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) का उपयोग किया जाएगा।

टीमों को प्रत्येक पारी में चार रेफरल दिए जाएंगे लेकिन टेक्नोलोजी में हॉकआई और अल्ट्रा ऐज शामिल नहीं होंगे जो कि अंतरराष्ट्रीय मैचों में उपयोग होने वाले डीआरएस के प्रमुख अंग हैं। सौराष्ट्र क्रिकेट संघ ने कहा,‘रणजी में पहली बार डीआरएस को लागू किया जाएगा। रणजी के सेमीफाइनल और फाइनल मैचों में डीआरएस प्रणाली अपनाई जाएगी।’

पिछले सप्ताह बीसीसीआई के क्रिकेट महाप्रबंधक सबा करीम ने कहा था कि रणजी के नॉकआउट से नहीं बल्कि सेमीफाइनल के लिए डीआरएस के सीमित उपयोग की योजना हमेशा से थी।

सौराष्ट्र और गुजरात के बीच 29 फरवरी से शुरू होने वाले रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल मैच के दौरान पहली बार देश की शीर्ष घरेलू प्रतियोगिता में निर्णय समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) का उपयोग किया जाएगा।

टीमों को प्रत्येक पारी में चार रेफरल दिए जाएंगे लेकिन टेक्नोलोजी में हॉकआई और अल्ट्रा ऐज शामिल नहीं होंगे जो कि अंतरराष्ट्रीय मैचों में उपयोग होने वाले डीआरएस के प्रमुख अंग हैं। सौराष्ट्र क्रिकेट संघ ने कहा,‘रणजी में पहली बार डीआरएस को लागू किया जाएगा। रणजी के सेमीफाइनल और फाइनल मैचों में डीआरएस प्रणाली अपनाई जाएगी।’

पिछले सप्ताह बीसीसीआई के क्रिकेट महाप्रबंधक सबा करीम ने कहा था कि रणजी के नॉकआउट से नहीं बल्कि सेमीफाइनल के लिए डीआरएस के सीमित उपयोग की योजना हमेशा से थी।




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *