Haryana Coronavirus Update | Coronavirus (COVID-19) Cases and Lockdown In Haryana Karnal Rohtak Faridabad Jind Sonipat Gurugram Panipat Ambala | दूसरे दिन गेहूं खरीद पकड़ेगी रफ्तार, पास प्राप्त करने वाले उद्योग और व्यापार होंगे शुरू

  • हरियाणा में कुल मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 238, 50 प्रतिशत से ज्यादा मरीज हुए ठीक
  • चार मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव होने की बावजूद पॉजिटिव बताने वाली एसआरएल लैब पर लगी रोक

दैनिक भास्कर

Apr 21, 2020, 10:44 AM IST

पानीपत. हरियाणा में लॉकडाउन के दूसरे चरण का 7वां दिन है। प्रदेशभर में चालू गेहूं खरीद का दूसरा दिन है। गेहूं खरीद मंगलवार को रफ्तार पकड़ सकती है, क्योंकि पहले दिन सरकार ने 1800 से ज्यादा खरीद केंद्रों पर 90 हजार किसानों को मैसेज भेजकर फसल के लिए मंडी बुलाया था लेकिन महज 10 हजार किसान ही पहुंचे थे। ऐसे में दूसरे दिन उम्मीद जताई जा रही है कि किसानों की संख्या बढ़ेगी। वहीं प्रदेश में 50 प्रतिशत से ज्यादा मरीज ठीक हो चुके हैं। बीते सोमवार को एक दिन में 37 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी मिली। सबसे ज्यादा प्रभावित नूंह जिले से सोमवार को 15 मरीज ठीक हुए। 

कुरुक्षेत्र अनाज मंडी में खरीद का काम करते मजदूर। यहां सहीं तरीके से खरीद हुई। किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं आई। 

आढ़तियों की हड़ताल पर रहेगी सरकार और जिला प्रशासन की नजर
हरियाणा सरकार और जिला प्रशासन की नजर मंगलवार को आढ़तियों की हड़ताल पर रहेगी, क्योंकि सोमवार को हड़ताल की वजह से भी खरीद प्रभावित हुई थी। सोमवार को प्रदेश में 10393 किसानों से एक लाख दो हजार टन गेहूं की खरीद की हुई। कई मंडियों में आढ़तियों ने हड़ताल पर रहते हुए खरीद नहीं की। वहां पर विभाग के अधिकारियों ने खुद गेहूं खरीदा। करनाल समेत कई जिलों में सड़कों पर ट्रैक्टर-ट्रॉलियों की लाइनें लग गईं, लेकिन सबको सैनिटाइज करने के बाद ही मंडियों में प्रवेश करने दिया गया। कैथल समेत कई जिलों में आढ़ती खरीदने पर राजी हो गए। कई जगह आढ़तियों के गेहूं न खरीदने पर एंजेंसियों ने खुद खरीदी। कृषि विभाग के एसीएस संजीव कौशल ने बताया कि पहले दिन प्रदेश में करीब एक लाख टन गेहूं की खरीद हुई है। पहले दिन करीब 44 किसानों ने हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड में 1.97 लाख रुपए दान किए हैं, जबकि अब तक सरसों बेचने वाले 161 किसान 1.94 लाख रुपए दान कर चुके हैं। 

व्यापार और उद्योग हो सकते हैं चालू, पहले दिन परमिशन लेते नजर आए लोग
मंगलवार को कुछ उद्योग व व्यापार चालू हो सकते हैं, क्योंकि पहले दिन लोग प्रदेशभर में पास के लिए जुटे रहे। उद्योगपतियों में पहले दिन असमंजस की स्थिति थी कि इंडस्ट्री खोलें या नहीं। वहीं, इंडस्ट्री को खोलने के नियम टूटने पर एफआईआर के नियम से उद्योगपति घबराए हुए थे। अब सरकार ने इस नियम को हटा दिया है, जिससे राहत मिली है। गृह मंत्री अनिल विज का कहना है कि लॉकडाउन में ढील के बाद बिना जरूरत के भी लोग बाहर निकले हैं। 

चार मरीजों की पॉजिटिव रिपोर्ट दूसरी टेस्टिंग में निगेटिव आई 
गुड़गांव की जिस एसएलआर लैब की रिपोर्ट में मरीजों को पॉजिटिव बताया गय, वे दूसरी जगह जांच में निगेटिव आए हैं। लैब को आईसीएमआर ने टेस्टिंग की अनुमति दी थी। इस लैब में ही अम्बाला की नर्स की जांच हुई तो उसे पॉजिटिव बताया गया। पर रोहतक पीजीआई और खानपुर मेडिकल कॉलेज में जांच कराई तो दोनो रिपोर्ट निगेटिव आई हैं। जबकि, शहजादपुर के तीन मरीजों के सैंपल की जांच में भी इस लैब ने रिपोर्ट पॉजिटिव बताई, जबकि इसके बाद एक जांच में इन मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। अब स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने इस लैब पर रोक लगाए जाने के बाद विभाग के एसीएस राजीव अरोड़ा को जांच के आदेश दे दिए हैं। प्राइवेट लैब प्रति जांच 4500 रु. ले रही है।

रेवाड़ी सचिवालय में स्थित ट्रेजरी संबधी कार्य के लिए खिड़की पर सोशल डिस्टेंस में खड़े विभागो के कर्मचारी।

प्रदेश में अब ये है संक्रमित मरीजों की जिलेवार संख्या
राज्य में संक्रमित का आंकड़ा 238 पहुंच गया। सबसे ज्यादा 57 मरीज नूंह के हैं। फरीदाबाद में 42, गुरुग्राम में 36, पलवल में 34, पंचकूला में 18, अम्बाला में 11, सोनीपत में 7, करनाल में 6, पानीपत में 5, सिरसा चार, यमुनानगर व भिवानी में 3-3, कैथल, हिसार, जींद, कुरुक्षेत्र में 2-2 और चरखी दादरी, झज्जर, रोहतक और फतेहाबाद में एक-एक पॉजिटिव मरीज मिला है। इसके साथ-साथ मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा हुआ है। उनके समेत कुल संक्रमित का आंकड़ा 251 बनता है। 

हरियाणा में 133 पहुंचा जमातियों का कुल आंकड़ा
प्रदेश में मिले कुल संक्रमित में से जमातियों की संख्या 133 हो गई है। इनमें सबसे ज्यादा संख्या नूंह जिले के हैं। यहां कुल 42 जमाती संक्रमित हैं। इसके अलावा पलवल में 31, फरीदाबाद में 23, गुरुग्राम में 15, अम्बाला में 5, पंचकूला में 7, यमुनागर में तीन, भिवानी में 2, कैथल, जींद, चरखी दादरी, फतेहाबाद और सोनीपत में एक-एक मरीज संक्रमित मिला है। यह सभी मरकज से लौटे थे। जिन्हें अलग-अलग मस्जिदों व गांवों से पकड़ा गया था।  

127 मरीज ठीक होकर पहुंचे घर
हरियाणा में अब कुल 127 मरीज ठीक हो गए हैं। गुरुग्राम में 26 मरीज, नूंह और पलवल में 23-23, फरीदाबाद में 22, अम्बाला में 6, करनाल में 5, सिरसा और पानीपत में 4-4, यमुनानगर में 3, सोनीपत, पंचकूला और भिवानी में 2-2, चरखी दादरी, फतेहाबाद, हिसार में 1-1 मरीज ठीक हुआ है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं, उनके समेत कुल आंकड़ा 141 बनता है। 


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *