Icc Women’s T20 World Cup Match Preview And Prediction Of India Vs Australia – Women’s T20 World Cup: पहले मैच में चार बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया से मिलेगी भारत को चुनौती

भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

महिला विश्व कप के लिए बिगुल बज चुका है। पहली बार ऑस्ट्रेलिया में हो रहे विश्व कप का आयोजन 21 फरवरी से 8 मार्च तक होगा। सातवें संस्करण में गत चैंपियन और दुनिया की नंबर एक टीम को भारत, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका की कड़ी चुनौती का सामना करना होगा। पहला मुकाबला ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच होगा। ऑस्ट्रेलिया चार बार खिताब जीत चुकी है जबकि भारतीय टीम को पहले खिताब का इंतजार है। भारतीय टीम तीन बार सेमीफाइनल तक पहुंची है।

स्टार बल्लेबाज हरमनप्रीत कौर भारतीय टीम की कमान संभालेंगी। पिछली बार 2018 में भारतीय टीम सेमीफाइनल में पहुंची थी। ऑस्ट्रेलिया के बाद भारतीय टीम की बल्लेबाजी में सबसे ज्यादा गहराई है। टीम में कप्तान हरमन के अलावा स्मृति मंधाना, जेमिमा रोड्रिग्ज के अलावा 16 साल की युवा प्रतिभाशाली शेफाली वर्मा शामिल हैं। 16 साल की ऋचा घोष, वेदा कृष्णमूर्ति और विकेटकीपर तानिया भाटिया भी अच्छी बल्लेबाजी करती हैं। शीर्ष क्रम चल गया तो किसी भी गेंदबाजी की धज्जियां उड़ा सकता है।  स्पिनर दीप्ति शर्मा, राधा यादव, पूनम यादव और राजेश्वरी गायकवाड़ के अलावा मीडियम पेसर शिखा पांडे, अरुंधति रेड्डी और पूजा वस्त्रकर गेंदबाजी आक्रमण का दायित्व रहेगा। हालांकि पूजा को मांसपेशियों में खिंचाव से उबरना होगा।

भारतीय टीम को तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी और अनुभवी बल्लेबाज मिताली राज की कमी खल सकती है। मिताली ने पिछले साल टी-20 प्रारूप से संन्यास ले लिया है जबकि झूलन 2018 से इसमें खेली नहीं हैं।

भारतीय टीम के मध्यक्रम को जरूरत पड़ने पर कसौटी पर खरा उतरना होगा। हाल में त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के फाइनल में हमने अंतिम सात विकेट 29 रन के अंदर गंवा दिए थे और 11 रन से मुकाबला हार गए थे जबकि शीर्ष क्रम में स्मृति मंधाना ने 37 गेंदों पर 66 रन की पारी खेली थी।  

पिछले साल हमने दक्षिण अफ्रीका को 3-1 से और वेस्टइंडीज को 5-0 से हराया था। भारत की छह खिलाड़ी बल्लेबाज हरमनप्रीत कौर, स्मृति मंधाना, जेमिमा रोड्रिग्ज और गेंदबाज दीप्ति शर्मा, पूनम यादव और राधा यादव शीर्ष दस में शामिल हैं।
 

महिला टी-20 विश्व कप में पहली बार फ्रंटफुट नोबॉल तकनीक का इस्तेमाल होगा। नोबॉल का इशारा मैदानी अंपायर की बजाए टीवी कैमरा पर बैठे थर्ड अंपायर देंगे। यह पहला मौका होगा, जब आईसीसी किसी वैश्विक टूर्नमेंट में इसे लागू कर रहा है। इससे पहले फ्रंटफुट नोबॉल तकनीक का इस्तेमाल हाल ही में भारत और वेस्टइंडीज के बीच हुई सीरीज में हुआ था। सफल प्रयोग के बाद इसके इस्तेमाल का फैसला किया गया। तीसरा अंपायर हर गेंद के बाद फ्रंटफुट लैंडिंग पोजिशन पर नजर रखेगा। गेंद नोबॉल होने पर वह मैदानी अंपायर को इसकी सूचना देगा।

हरमनप्रीत कौर (कप्तान), स्मृति मंधाना (उपकप्तान), शेफाली वर्मा, जेमिमा रोड्रिग्ज, हरलीन देओल, दीप्ति शर्मा, वेदा कृष्णामूर्ति, ऋचा घोष, तानिया भाटिया (विकेटकीपर), पूनम यादव, राधा यादव, राजेश्वरी गायकवाड, शिखा पांडे, पूजा वस्त्रकार, अरुंधति रेड्डी।

भारत कब-कब पहुंचा सेमीफाइनल में
2009, 2010, 2018

किसने कितने जीते खिताब
ऑस्ट्रेलिया चार बार (2010, 2012, 2014, 2018), इंग्लैंड (2009), वेस्टइंडीज 2016

भारत का प्रदर्शन

  • कुल मैच : 26
  • जीत : 13,
  • हार : 13
  • 36 :सर्वाधिक विकेट ऑस्ट्रेलिया की एलिस पेरी ने 32 मैचों में झटके हैं, भारत की ओर से पूनम यादव के 18 विकेट हैं
  • 03 : शतक अब तक विश्व कप में लगे हैं, इनमें मेग लेनिंग (ऑस्ट्रेलिया, 126), डिंड्रा डाटिन (वेस्टइंडीज 112* ) और हरमनप्रीत कौर (भारत 103)  
  • 119 : रन दूर है न्यूजीलैंड के सूजी बेट्स विश्व कप में एक हजार रन पूरे करने वाली पहली खिलाड़ी बनने से वह अब तक 28 पारियों में 881 रन बना चुकी हैं
  • 10 : टीमों को पांच-पांच के दो ग्रुप में बांटा गया है, थाईलैंड पहली बार भाग ले रहा है जिसने क्वालिफाई कर जगह बनाई है, बांग्लादेश भी क्वालिफाई करके पहुंचा है। आठ टीमों को सीधा प्रवेश मिला है।
  • 08 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर होगा फाइनल मुकाबला
  • 04 : शहरों में मैच खेले जाएंगे सिडनी, पर्थ, मेलबर्न और कैनबरा
  • 23 मुकाबले होंगे जिसमें लीग दौर में 20 और नॉकआउट दौर में तीन

महिला विश्व कप के लिए बिगुल बज चुका है। पहली बार ऑस्ट्रेलिया में हो रहे विश्व कप का आयोजन 21 फरवरी से 8 मार्च तक होगा। सातवें संस्करण में गत चैंपियन और दुनिया की नंबर एक टीम को भारत, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका की कड़ी चुनौती का सामना करना होगा। पहला मुकाबला ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच होगा। ऑस्ट्रेलिया चार बार खिताब जीत चुकी है जबकि भारतीय टीम को पहले खिताब का इंतजार है। भारतीय टीम तीन बार सेमीफाइनल तक पहुंची है।


आगे पढ़ें

हरमन की टीम रचेगी इतिहास




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *