Mamta banerjee on central team visit| objected to the arrival of the central team taking stock of Corona, wrote to PM Modi in letter – we were kept in the dark | ममता ने कोरोना का जायजा लेने वाली केंद्रीय टीम के पहुंचने पर आपत्ति जताई, मोदी को चिट्‌ठी में लिखा- हमें अंधेरे में रखा गया

  • ममता ने मोदी को चिट्‌ठी में लिखा- गृह मंत्री अमित शाह ने देर से केंद्रीय टीमों के राज्य में पहुंचने की जानकारी दी
  • ममता का दावा- केंद्रीय टीमें ने बीएसएफ से संपर्क किया और राज्य सरकार को सूचना दिए बिना सीधे फील्ड में पहुंची

दैनिक भास्कर

Apr 21, 2020, 10:39 AM IST

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोरोना की हालत का जायजा लेने के लिए केंद्रीय टीम को राज्य में भेजने पर आपत्ति जताई है। उन्होंने प्रधानमंत्री को चिट्‌ठी लिखकर इसे एकतरफा और अनचाहा बताया। उन्होंने कहा कि इस मामले में पश्चिम बंगाल की सरकार को अंधेरे में रखा गया। यह प्रोटोकॉल का उल्लंघन है। गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को दोपहर बाद केंद्रीय टीमों के राज्य में पहुंचने की जानकारी दी। हालांकि,यह टीमें सुबह ही पहुंच गई थी।  
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सोमवार को कोलकाता और पश्चिम बंगाल के कुछ स्थानों पर कोरोना की स्थिति गंभीर होने की बात कही थी। यहां पर लॉकडाउन का उल्लंघन होने से संक्रमण फैलने की आशंका जाहिर की थी। इसके साथ ही मुंबई, पुणे, इंदौर और जयपुर में कोरोना का संकट गहराने की बात कही थी।

केंद्रीय टीम ने गतिविधियों के बारे में राज्य को नहीं बताया

ममता ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखी चिट्‌ठी में लिखा कि केंद्रीय टीमों ने राज्य सरकार को अपनी गतिविधियों के बारे में नहीं बताया। इन टीमों ने आने- जाने में मदद के लिए सीधे सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) से संपर्क किया। टीमें राज्य सरकार को सूचना दिए बिना सीधे ही फील्ड में दौरा करने लगीं। मुझे यकीन है कि आप इस बात से सहमत होंगे कि केंद्र सरकार की ओर से इस तरह की कार्रवाई एकतरफा और अनचाही हैं। खास तौर पर ऐसे समय में जब केंद्र और राज्य सरकार दोनों ही कोरोना से लड़ने में जुटी हैं।

केंद्र ने राज्यों का जायजा लेने के लिए छह टीमें गठित की हैं

केंद्र सरकार ने राज्यों में कोरोना को लेकर हालात का जायजा लेने के लिए छह इंटर मिनिस्ट्रियल टीमें गठित की हैं। मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान और पश्चिम बंगाल को इस संबंध में निर्देश भी जारी किया गया था। इसके बाद ही एक केंद्रीय टीम कोलकाता और दूसरी टीम जलपाईगुड़ी पहुंची थी। गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल में कोलकाता, हावड़ा, पूर्वी मेदिनीपुर, उत्तर 24 परगना, दार्जीलिंग, कलिम्पोंग और जलपाईगुड़ी को कोरोना संवेदनशील बताया है। 


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *