Raghubir Yadav’s wife Purnima Kharga files for divorce, alleging adultery and desertion | 70 साल के रघुवीर यादव की पत्नी पूर्णिमा ने लगाई तलाक की अर्जी, 10 करोड़ रुपए का गुजारा भत्ता मांगा

  • 1988 में हुई थी शादी, 1995 से अलग रह रहे
  • दोनों का 30 साल का बेटा मां के साथ रहता है
  • यादव एक बार याचिका लगाकर वापस ले चुके

Dainik Bhaskar

Feb 21, 2020, 12:27 PM IST

बॉलीवुड डेस्क.  रघुवीर यादव की पत्नी पूर्णिमा खरगा ने मुंबई के बांद्रा फैमिली कोर्ट में तलाक की अर्जी लगाई है। 60 साल की पूर्णिमा और 70 वर्षीय यादव 25 साल से अलग-अलग रह रहे हैं। दोनों का 30 साल का बेटा है, जो मां के साथ रहता है। तलाक की अर्जी में पूर्णिमा 1 लाख रुपए के इंटर्म मेंटेनेंस और 10 करोड़ रुपए की एलिमनी की मांग की। अपनी इस पिटीशन में उन्होंने यादव की पार्टनर और मैनेजर रोशनी अर्चेजा को पार्टी बनाया है।

पिटीशन में यह लिखा
लॉयर्स इशिका तोलानी और तौबा खान द्वारा दायर की गई इस पिटीशन में लिखा है, “याचिकाकर्ता (पूर्णिमा) का कहना है कि रिस्पॉन्डेंट (रघुवीर) के उक्त आचरण और व्यव्हार, उसके धोखा देने और विवाहेत्तर संबंध (जिससे शादीशुदा जिंदगी में कलह पैदा हुई)  के चलते वह याचिकाकर्ता के साथ क्रूरतापूर्ण व्यवहार करने का दोषी है। इन परिस्थितियों में याचिकाकर्ता यह मानती है कि वह हिंदू विवाह अधिनियम की धारा 13 (1) (i) और 13 (i-a) के तहत डिक्री ऑफ डाइवोर्स का हकदार है। 

1988 में हुई थी रघुवीर से शादी
पूर्णिमा पूर्व अंतर्राष्ट्रीय कथक डांसर हैं। उन्होंने अपनी याचिका में बताया है कि 80 के दशक की शुरुआत में वे कथक के लिए वर्ल्ड टूर कर रही थीं। उन्होंने बिरजू महाराज के सानिध्य में ट्रेनिंग भी ली थी। इसी बीच नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) में उनकी मुलाकात रघुवीर से हुई, जो उस वक्त स्ट्रगलिंग एक्टर थे। 6 महीने की कोर्टशिप के बाद 1988 में उन्होंने जबलपुर (मध्य प्रदेश) स्थित यादव के गांव में शादी कर ली। शादी अचानक हुई थी। इसलिए किसी तरह के कार्ड नहीं छपे थे। लेकिन सबूत के तौर पर उनके पास फोटोग्राफ्स हैं। 

पूर्णिमा खरगा बेटे और रघुवीर यादव के साथ।

यादव 1995 में तलाक की अर्जी लगा चुके
पिटीशन में लिखा, “याचिकाकर्ता को यकीन था कि रिस्पॉन्डेंट हमेशा उनके प्रति वफादार रहेगा और वैवाहिक दायित्वों के साथ इस पवित्र बंधन का सम्मान करेगा। 1995 में पूर्णिमा को शक हुआ कि यादव का उनकी एक को-स्टार से अफेयर है। फिर भी वे शादी को टूटने से बचाने की कोशिश करती रहीं। लेकिन उसी साल यादव ने जबलपुर में तलाक की अर्जी लगा दी। पिटीशन दिल्ली ट्रांसफर कर दी गई, जहां पूर्णिमा रहती थीं। कई साल बाद यादव ने अपनी याचिका वापस ले ली।”

समय पर नहीं मिलती मेंटेनेंस की रकम
पूर्णिमा को यादव की ओर से हर महीने 40 हजार रुपए मेंटेनेंस के तौर पर दिए जाते हैं। पूर्णिमा का कहना है कि पेमेंट कभी भी समय पर नहीं मिलता। उन्होंने यह आरोप भी लगाया है कि मेंटेनेंस से बचने के लिए यादव ने अपनी ज्यादातर संपत्ति रोशनी के नाम कर दी है। 

यादव ने क्या कहा
मुंबई मिरर से बातचीत में रघुवीर यादव ने प्रतिक्रिया देते हए कहा, “मामला पक्षपातपूर्ण है। इसलिए कोई भी कमेंट अनुचित होगा। लेकिन किसी की छवि को धूमिल कर सहानुभूति  हासिल करना आम हो गया है। मैं ऐसा नहीं करूंगा। क्योंकि मुझे न्यायिक व्यवस्था पर पूरा भरोसा है।” इससे पहले वे पत्नी और बेटे पर प्रताड़ना का आरोप लगा चुके हैं। बात रोशनी की करें तो ‘बनेगी अपनी बात’ जैसे सीरियल्स में काम कर चुकी इस एक्ट्रेस की और से कोई भी प्रतिक्रिया अब तक सामने नहीं आई है।

रघुवीर को पहचान ‘मुंगेरीलाल के हसीन सपने’ से मिली
रघुवीर यादव को प्रकाश झा के टीवी शो ‘मुंगेरीलाल के हसीन सपने’  से पहचान मिली थी, जो 80 के दशक में टेलीकास्ट हुआ था। ‘लगान’ और ‘पीपली लाइव’ समेत उनकी 8 फिल्में बेस्ट फिल्म इन फॉरेन लैंग्वेज कैटेगरी में ऑस्कर के लिए भेजी जा चुकी हैं। 


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *