Rajnath Singh said the Balakot airstrikes had sent out a clear message that infrastructure across the border could not be used as safe havens for terrorists | राजनाथ बोले- सीमा पार भी नहीं बच पाएंगे आतंकवादी, बालाकोट एयरस्ट्राइक से कर चुके हैं साबित

  • दिल्ली में सेंटर फॉर एयर पॉवर स्टडीज कार्यक्रम में शामिल हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 
  • बोले- भारत के रूख में आया बदलाव, देश की रक्षा के लिए सीमा पार करने में भी नहीं होगी हिचकिचाहट 

Dainik Bhaskar

Feb 28, 2020, 01:32 PM IST

नई दिल्ली. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत के खिलाफ षडयंत्र रचने वाले आतंकवादी सीमा पार भी सुरक्षित नहीं हैं। हमारे सेनाओं के पास उन्हें घुसकर मारने की क्षमता है। बालाकोट एयरस्ट्राइक इसका उदाहरण है। सिंह ने कहा कि आतंकवाद को खत्म करने के लिए भारत के रूख में बदलाव आ चुका है। देश की रक्षा के लिए अब सीमा पार करने में भी हम नहीं हिचकेंगे। वह दिल्ली में आयोजित सेंटर फॉर एयर स्टडीज कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने ट्वीट करके भी बालाकोट एयरस्ट्राइक करने वाले जाबाजों को बधाई दी है। 
 

वहीं वायुसेना प्रमुख एयरचीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने कहा कि एक साल पहले सरकार ने नियंत्रण रेखा के पार पाकिस्तान के भीतर आतंकवादी प्रशिक्षण शिविरों पर हमला करने का कठोर और साहसिक निर्णय लिया था। भारतीय वायुसेना ने अपने सभी लक्ष्यों को सफलतापूर्वक हासिल किया। 

सीडीएस रावत बोले- राजनैतिक नेतृत्व के कठोर निर्णय से मिलता है हौसला
चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने कहा कि प्रभावी सैन्य नेतृत्व और राजनैतिक नेतृत्व के कठोर निर्णय से जवानों को हौसला मिलता है। इसकी बानगी कारगिल, उरी और पुलवामा हमले के बाद देखने को मिली। आगे कहा कि, बालाकोट एयर स्ट्राइक का संदेश बहुत स्पष्ट था कि हमारे लोगों पर जिस तरह का छद्म युद्ध चल रहा है उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 
 




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *