Republic day special: 9 mobile apps that can keep an eye on the functioning of government, can give ratings to leaders, MyGov India, Neta, PolitiFact, Indian Politics, IChangeMyCity, Civis, Project FiB, Govern eye, BS Detector, Countable, Represent Me,Voter, VoteSpotter Ushahidi | तकनीक से ताकतवर होता लोकतंत्र, 9 ऐप जिनसे सरकार के कामकाज पर रख सकेंगे नजर, नेताओं को दे सकेंगे रेटिंग

एक आदर्श लोकतंत्र को क्या चाहिए? जागरूक जनता! विचारों के निर्बाध आदान-प्रदान की सुविधा! लोकतंत्र के विकास में सक्रिय भागीदारी का मौका! अगर आज हम पहले से ज्यादा मुखर हुए हैं तो इसका श्रेय तकनीक और इंटरनेट की आज़ादी को भी जाता है। चीन में तो लोगों को गूगल, फेसबुक, ट्विटर, वॉट्सऐप तक नसीब नहीं है। टेक एक्सपर्ट अभिषेक तैलंग से जाने लोकतंत्र को मज़बूत बनाने में तकनीक का और बेहतरीन इस्तेमाल कैसे किया जा सकता है..

  • MyGov India

    चुनी हुई सरकार से सीधे संवाद करने का सबसे सरल तरीका यह ऐप है। इसे सरकार का ऑफिशियल ऐप भी कहा जा सकता है। इस ऐप की मदद से आप सरकार के कामकाज का लेखा-जोखा देख सकते हैं, अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं, सरकारी योजनाओं और अन्य सामाजिक विषयों पर हुई चर्चाओं को देख, सुन, पढ़ सकते हैं और कुछ चर्चाओं में अपनी राय भी रख सकते हैं। सरकार के इस ऐप पर ढेरों कार्यक्रमों पर जनमत सर्वेक्षण होते रहते हैं, जिनमें आप भाग ले सकते हैं।

  • Neta

    इस ऐप पर जाकर आप जिस नेता को चाहें, वैसी रेटिंग दे सकते हैं। जो नेता चुनाव जीतने के बाद अपने वायदों से मुकर गया, मतदाताओं को भूल गया, भ्रष्टाचार में लग गया या फिर गुमशुदा हो गया, उसे सही रेटिंग कर कम से कम आप अपनी हताशा का इज़हार तो कर ही सकते हैं। भले ही ये ऐप्लीकेशन वोट की तरह न हो, लेकिन नेताओं के बारे में जनता के मूड को ज़ाहिर करता है। इस ऐप का इस्तेमाल 2018 में मप्र, राजस्थान और कर्नाटक के चुनावों में हुआ और ऐप डेवलपर्स के मुताबिक इसकी सफलता की दर 90% रही।

  • PolitiFact

    नेताओं की बयानबाजी, भाषण, टिप्पणियों पर लोकतंत्र हमेशा गर्माता रहा है, पर फेक न्यूज के जमाने में भाषणों को तोड़ना-मरोड़ना बहुत आम हो गया है। ऐसे में किसी भी नेता के बयानों पर भावनाओं में बहने से पहले एक बार सच जानने की कोशिश जरूर करना चाहिए। इस सच को जानने में यह ऐप आपकी मदद कर सकता है। इस ऐप को पुलित्ज़र अवार्ड मिलने वाली वेबसाइट PolitiFact ने ही डेवलप करवाया है। इस पर आप दुनिया जहान के नेता-अभिनेताओं के बयानों को इसके ट्रूथ ओ मीटर के जरिए क्रॉसचेक भी कर सकते हैं।

  • Indian Politics

    अधूरा ज्ञान घातक होता है और डिजिटल के जमाने में अधूरे ज्ञान से पैदा हुई अफवाहें तो जंगल में लगी आग से भी तेज गति से फैलती हैं। इंटरनेट पर राजनीति और बाकी समसामयिक विषयों पर अपना ज्ञान बघारने से पहले उसे बढ़ा लें तो लोकतंत्र के लिए ज्यादा फायदेमंद होगा। इसके लिए इस ऐप की मदद ली जा सकती है। इस ऐप में भारतीय संविधान, संवैधानिक ढांचा, संविधान में हुए संशोधन और भारत के संघीय ढांचे की जानकारियों समेत कई ऐसी चीजें हैं जो आपको छोटा-मोटा संविधान विशेषज्ञ तो बना ही देंगी।

  • IChangeMyCity

    यह ऐप आपको आसपास की समस्याओं और मुद्दों को नेताओं तक पहुंचाने का जरिया बनकर उभरा है। कई लोग इसका इस्तेमाल कर रहे हैं। आपके इलाके में गंदगी फैली है या फिर बारिश से सड़कें टूटी हैं तो एक जिम्मेदार नागरिक इसके जरिए इलाके के पार्षद, विधायक या सांसद तक अपनी बात पहुंचा सकता है। अगर चुनाव आयोग या दूसरे सरकारी विभागों को अपनी बात नागरिकों तक पहुंचानी है तो वे भी इसकी मदद ले सकते हैं, जैसे मतदाता सूची में बदलाव के समय।

  • Civis

    यह प्लेटफॉर्म नागरिकों को जागरूक बनाने के लिए कुछ संजीदा काम कर रहा है। वह सार्वजनिक रूप से उपलब्ध सरकारी दस्तावेजों, विशेषज्ञों के अध्ययनों, शोधों, नीतियों, सर्वेक्षणों वगैरह का ब्योरा लोगों तक पहुंचाता है। इसका मकसद यह है कि आम नागरिक सूचनाओं से दूर न रहंे, अनजान न रहें और जो भी राय बनाएं या फैसले करें, वे बेबुनियाद न हों।

  • Project FiB

    इंटरनेट पर झूठ फैलाने में जितना हाथ फेक न्यूज का होता है, उससे ज्यादा खतरनाक झूठी तस्वीरें होती हैं जिन्हें मॉर्फ कर सच को तोड़-मरोड़कर पेश किया जाता है। ऐसे झूठे फोटोग्राफ्स को पहचानने के लिए FiB से बेहतर सर्विस और कुछ नहीं है। ये सर्विस आपके फेसबुक टाइमलाइन पर आ रहीं तस्वीरों, यूआरएल और टेक्स्ट को हर वक्त जांचती है और अपने इमेज रिकगनिशन और सोर्स वेरीफिकेशन एल्गोरिदम की मदद से दूध का दूध और पानी का पानी करती है। हर पोस्ट पर आपको ट्रस्ट स्कोर दिखता है और साथ ही आपकी लिखी पोस्ट पर भी फैक्ट चेक करने का फीचर इसमें मिलता है।

  • Govern eye

    यह ऐप भी आम लोगों और सरकार के बीच एक पुल की तरह काम करता है। इस पर आप खुलकर अपनी बात रख सकते हंै, वो भी अपनी खुद की भाषा में। आपके संदेश नेताजी तक पहुंचाने का काम ये ऐप करता है। आप चाहें तो इस ऐप पर अपनी पहचान छुपा भी सकते हैं। इस ऐप पर ऑडियो-वीडियो सब चलता है। ताजी खबरें जानी जा सकती हैं। फेक न्यूज अलर्ट मिलता है। अगर आप धरना-प्रदर्शन करना चाहते हैं तो इस ऐप की मदद से ऑनलाइन प्रोटेस्ट मार्च भी निकाल सकते हैं।

  • BS Detector

    स्मार्टफोन के अलावा वेब ब्राउजर्स के लिए भी कई एक्सटेंशन हैं, जो लोकतंत्र को मजबूत करने के काम आ रहे हैं। यह ऐसा ही एक्सटेंशन है जो फेक न्यूज के खतरे से बचाने में काम आता है। ये क्रोम एक्टेंशन किसी भी सोशल मीडिया वेबसाइट पर चल रही फेक न्यूज की पड़ताल कर आगाह करने का काम करता है।

  • दुनिया में लोकतंत्र मजबूत करते ऐप्स

    Countable (अमेरिका): अमेरिकी संसद में पेश हो चुके बिलों के बारे में निष्पक्ष विवरण देता है। जनता की राय सरकार तक पहुंचाता है।

    Represent Me (ब्रिटेन): यह सामाजिक-राजनैतिक मुद्दों पर ऑनलाइन पोल करता है। जनता की राय को नीति निर्माताओं तक पहुंचाता है।

    Voter (अमेरिका): यह ऐप आम नागरिकों की राजनैतिक सोच के आधार पर उनके लिए सबसे बेहतर नेता को खोजने में मदद करता है।

    VoteSpotter (अमेरिका): यह ऐप पसंदीदा नेता का संसद में रिपोर्ट कार्ड और संसदीय क्षेत्र में उसके द्वारा किए गए कामकाज का लेखा-जोखा प्रस्तुत करता है।

    Ushahidi (केन्या): इसके जरिए उपयोगकर्ता चुनाव में होने वाली गड़बड़ी को रिपोर्ट कर सकता है। यह बूथ कैप्चरिंग को रोकने में भी मदद करता है।


  • Source link

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *