Sl Vs Wi: Sri Lanka Win 1st Odi Vs West Indies At Colombo By One Wickets – Slvwi: आखिरी ओवर में एक विकेट से जीता श्रीलंका, कोलंबो में 22 साल बाद साधा सबसे बड़ा लक्ष्य

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला
Updated Sat, 22 Feb 2020 06:10 PM IST

ख़बर सुनें

कोलंबो में खेले गए पहले एकदिवसीय में वेस्टइंडीज को एक विकेट से हराते हुए श्रीलंका ने तीन मैच की वन-डे सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली। टॉस गंवाकर पहले बल्लेबाजी करते हुए शाई होप की रिकॉर्ड शतकीय पारी (115) और अंत के ओवर्स में कीमो पॉल के 17 गेंदों में 32 और हेडन वॉल्श के 8 गेंदों में 20 रन के बूते वेस्टइंडीज ने निर्धारित 50 ओवर्स में 7 विकेट गंवाकर 289 रन बनाए। जवाब में मेजबान श्रीलंका ने पांच गेंद शेष रहते एक विकेट से यह मैच अपने नाम किया।

श्रीलंका की इस जीत के वैसे तो कई हीरो हैं। पहले विकेट के लिए अविष्का फर्नांडो (50) और दिमुथ करुणारत्ने (52) के बीच 111 रन की साझेदारी ने श्रीलंका को ठोस शुरुआत दिलाई, लेकिन अगले 60 रन के भीतर टीम ने अपने चार विकेट खो दिए। इसके बाद एक-दो छोटी-छोटी साझेदारियां हुई, लेकिन कोई बल्लेबाज क्रीज पर टिक नहीं पाया। फिर आठवें क्रम पर आए। वानिंदु हसरंगा टीम के लिए नए हीरो बनकर उभरे। अपनी 39 रन में 42 रन की पारी के बूते ही उन्होंने न सिर्फ श्रीलंका को मुश्किल से उबारा बल्कि आखिरी ओवर में जीत भी दिलाई।

यह कोलंबो के SSC ग्राउंड पर श्रीलंका की लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ी जीत भी है। इसके पहले 1998 में जिम्बॉब्वे के खिलाफ उसे इस मैदान पर 6 विकेट के नुकसान पर 286 रन का स्कोर साधा था। उससे पहले भारत ने 2001 में न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन विकेट के नुकसान पर 267 रन बनाए थे।

 

कोलंबो में खेले गए पहले एकदिवसीय में वेस्टइंडीज को एक विकेट से हराते हुए श्रीलंका ने तीन मैच की वन-डे सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली। टॉस गंवाकर पहले बल्लेबाजी करते हुए शाई होप की रिकॉर्ड शतकीय पारी (115) और अंत के ओवर्स में कीमो पॉल के 17 गेंदों में 32 और हेडन वॉल्श के 8 गेंदों में 20 रन के बूते वेस्टइंडीज ने निर्धारित 50 ओवर्स में 7 विकेट गंवाकर 289 रन बनाए। जवाब में मेजबान श्रीलंका ने पांच गेंद शेष रहते एक विकेट से यह मैच अपने नाम किया।

श्रीलंका की इस जीत के वैसे तो कई हीरो हैं। पहले विकेट के लिए अविष्का फर्नांडो (50) और दिमुथ करुणारत्ने (52) के बीच 111 रन की साझेदारी ने श्रीलंका को ठोस शुरुआत दिलाई, लेकिन अगले 60 रन के भीतर टीम ने अपने चार विकेट खो दिए। इसके बाद एक-दो छोटी-छोटी साझेदारियां हुई, लेकिन कोई बल्लेबाज क्रीज पर टिक नहीं पाया। फिर आठवें क्रम पर आए। वानिंदु हसरंगा टीम के लिए नए हीरो बनकर उभरे। अपनी 39 रन में 42 रन की पारी के बूते ही उन्होंने न सिर्फ श्रीलंका को मुश्किल से उबारा बल्कि आखिरी ओवर में जीत भी दिलाई।

यह कोलंबो के SSC ग्राउंड पर श्रीलंका की लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ी जीत भी है। इसके पहले 1998 में जिम्बॉब्वे के खिलाफ उसे इस मैदान पर 6 विकेट के नुकसान पर 286 रन का स्कोर साधा था। उससे पहले भारत ने 2001 में न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन विकेट के नुकसान पर 267 रन बनाए थे।

 




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *