Sufficient evidence against former CBI director Rakesh Asthana, says, ex investigating officer | पूर्व निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ पर्याप्त सबूत, जांच अधिकारी पर बचाने का आरोप

  • सीबीआई कोर्ट में ही जांच अधिकारी सतीश डागर से हुई पूर्व जांच अधिकारी की तीखी बहस 
  • कुछ दिनों पहले ही पूर्व निदेशक राकेश अस्थाना को मिली थी क्लीनचिट

Dainik Bhaskar

Feb 28, 2020, 03:14 PM IST

नई दिल्ली.  सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में शुक्रवार को जमकर हंगामा हुआ। पूर्व निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले में हो रही सुनवाई के बीच जांच अधिकारी सतीश डागर और पूर्व जांच अधिकारी अजय कुमार बस्सी के बीच तीखी नोकझोक हुई। बस्सी ने डागर पर राकेश अस्थाना और अन्य आरोपित अफसरों को बचाने का आरोप लगाया। इसपर कोर्ट में ही मौजूद डागर उनसे भिड़ गए। बस्सी ने कहा कि अस्थाना के खिलाफ दोष साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत है। इसके बावजूद डागर उन्हें बचाने में जुटे हुए हैं। 

डागर बोले, जांच में सहयोग के लिए क्यों नहीं आए
बस्सी ने डागर पर यह भी आरोप लगाया कि उन्होंने न तो अस्थाना का नंबर सीज किया और न ही उनके द्वारा प्रयोग किए जा रहे अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस। इन सब चीजों से अस्थाना के खिलाफ काफी सबूत मिल सकते हैं।  इसपर डागर भड़क उठे। बताया जाता है कि दोनों कोर्ट में ही तीखे अंदाज में बहस करने लगे। पलटवार करते हुए डागर ने बस्सी पर आरोप लगाया कि पक्षपातपूर्ण जांच के चलते ही उन्हें हटाया गया है। यह भी कहा आपको (बस्सी) छह बार जांच में सहयोग के लिए समन भेजा गया लेकिन आप नहीं आए। अब आधारहीन आरोप लगा रहे हैं। इस बीच सीबीआई जज संजीव अग्रवाल ने बीचबचाव किया। इस तरह के विवाद से जनता के बीच अच्छा संदेश नहीं जाएगा।     
  
2018 में गिरफ्तार हुए थे अस्थाना और डीएसपी
सीबीआई ने राकेश अस्थाना और डीएसपी देवेन्द्र कुमार को 2018 में गिरफ्तार किया गया था। बाद में उन्हें जमानत दे दी गई थी। दोनों को मामले में आरोपी बनाने के पर्याप्त सबूत न मिलने पर इनके नाम आरोपपत्र के कॉलम 12 में लिख दिए गए थे। सीबीआई ने हैदराबाद के कारोबारी सतीश सना की शिकायत के आधार पर अस्थाना के खिलाफ मामला दर्ज किया था। 




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *