Violence In Delhi Orchestrated Keeping In View The Ongoing Visit Of Us President Donald Trump – डोनाल्ड ट्रंप को दिखाने के लिए दिल्ली के कई इलाकों में हो रही हिंसा! 

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Mon, 24 Feb 2020 07:23 PM IST

ख़बर सुनें

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर दिल्ली के कई इलाकों में भड़की हिंसा के तार अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से जुड़ते दिख रहे हैं। गृह मंत्रालय के सूत्रों की मानें तो ट्रंप के सामने इस मुद्दे को बड़ा बनाने के मकसद से ही दिल्ली में हिंसा भड़काई जा रही है। 

दिल्ली पुलिस के कमिश्नर अमूल्य पटनायक स्थिति पर निगरानी रखने के लिए पुलिस कंट्रोल रूम में मौजूद हैं। गृह मंत्रालय के सूत्रों ने कहा, ‘दिल्ली के कई इलाकों में हिंसा इसलिए भड़काई जा रही है ताकि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे के दौरान उन्हें ज्यादा पब्लिसिटी मिल सके।’

ट्रंप के दौरे से पहले रविवार को पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद में प्रदर्शनकारियों ने सड़कें जाम कर दीं और पत्थरबाजी की घटनाएं भी हुईं। खुरेजी और चांदबाग में भी महिलाओं ने प्रदर्शन किया। जाफराबाद में तो खासतौर से स्थिति काफी बिगड़ गई थी। सोमवार को भी सीएए और एनआरसी को लेकर फिर से हिंसा भड़क उठी। 

इसके अलावा गोकुलपुरी समेत दिल्ली के कई इलाके इसकी चपेट में आ गए। उपद्रवियों की ओर से की गई फायरिंग में एक कॉन्स्टेबल की भी मौत हो गई है। इन्होंने एक पेट्रोल पंप को भी आग के हवाले कर दिया है। इस वजह से दिल्ली में धारा 144 लागू कर दी गई है। 

इसे राष्ट्रपति ट्रंप के दौरे के बीच सीएए का विरोध एक सोची-समझी रणनीति के रूप में देखा जा रहा है। ऐसा भी माना जा रहा है ट्रंप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने धार्मिक समानता का मुद्दा उठा सकते हैं। इस वजह से भी विरोध को तेज किया गया है। 

दिल्ली में स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है: गृह सचिव

वहीं, दिल्ली के कुछ हिस्सों में हिंसा के मद्देनजर केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है और मौके पर पर्याप्त सुरक्षा बल तैनात किये गए हैं। उत्तर-पूर्व दिल्ली में हिंसक संघर्ष में एक पुलिसकर्मी की मौत होने के बाद गृह सचिव का यह बयान आया है। भल्ला ने कहा कि दिल्ली में स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर हैं और पर्याप्त सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं। 
 

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर दिल्ली के कई इलाकों में भड़की हिंसा के तार अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से जुड़ते दिख रहे हैं। गृह मंत्रालय के सूत्रों की मानें तो ट्रंप के सामने इस मुद्दे को बड़ा बनाने के मकसद से ही दिल्ली में हिंसा भड़काई जा रही है। 

दिल्ली पुलिस के कमिश्नर अमूल्य पटनायक स्थिति पर निगरानी रखने के लिए पुलिस कंट्रोल रूम में मौजूद हैं। गृह मंत्रालय के सूत्रों ने कहा, ‘दिल्ली के कई इलाकों में हिंसा इसलिए भड़काई जा रही है ताकि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे के दौरान उन्हें ज्यादा पब्लिसिटी मिल सके।’

ट्रंप के दौरे से पहले रविवार को पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद में प्रदर्शनकारियों ने सड़कें जाम कर दीं और पत्थरबाजी की घटनाएं भी हुईं। खुरेजी और चांदबाग में भी महिलाओं ने प्रदर्शन किया। जाफराबाद में तो खासतौर से स्थिति काफी बिगड़ गई थी। सोमवार को भी सीएए और एनआरसी को लेकर फिर से हिंसा भड़क उठी। 

इसके अलावा गोकुलपुरी समेत दिल्ली के कई इलाके इसकी चपेट में आ गए। उपद्रवियों की ओर से की गई फायरिंग में एक कॉन्स्टेबल की भी मौत हो गई है। इन्होंने एक पेट्रोल पंप को भी आग के हवाले कर दिया है। इस वजह से दिल्ली में धारा 144 लागू कर दी गई है। 

इसे राष्ट्रपति ट्रंप के दौरे के बीच सीएए का विरोध एक सोची-समझी रणनीति के रूप में देखा जा रहा है। ऐसा भी माना जा रहा है ट्रंप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने धार्मिक समानता का मुद्दा उठा सकते हैं। इस वजह से भी विरोध को तेज किया गया है। 

दिल्ली में स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है: गृह सचिव

वहीं, दिल्ली के कुछ हिस्सों में हिंसा के मद्देनजर केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है और मौके पर पर्याप्त सुरक्षा बल तैनात किये गए हैं। उत्तर-पूर्व दिल्ली में हिंसक संघर्ष में एक पुलिसकर्मी की मौत होने के बाद गृह सचिव का यह बयान आया है। भल्ला ने कहा कि दिल्ली में स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर हैं और पर्याप्त सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं। 
 




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *